Tag Archives: agini

What is integrated Guided missile Development Programme (IGMDP)

Missiles Technology

The Integrated Guided Missile Development Program (IGMDP) was an Indian Ministry of Defense program for the research and development of the broad range of missile.

The Integrated Guided Missile Development Program (IGMDP) was started in 1982-83 under the leadership of Dr. APJ Abdul Kalam.

The program was managed:- by the Defense Research and Development Organization (DRDO)* and Ordnance Factories Board.

The main objective of this program was to make India self-reliant in the field of missile technology.

The program ran from 1983 to 2012 under which 5 missiles were built:

1. Prithvi : – The Prithvi missile is a family of tactical surface to surface short-range ballistic missile (SRBM)

India’s first indigenously developed ballistic missile.

– Range 150-300km

2. Agni: – The Agni missile is a family of medium to intercontinental range ballistic missiles.

-Agni missiles are long range, nuclear weapons capable surface to surface ballistic missile.

Types: –

1. Agni-I, Agni-II: – Medium-range ballistic missile.  Range 700–3,500 km.

2.Agni-III, Agni-IV: – Intermediate-range ballistic missile.  Range -3,000–5,000 km

3.Agni-V, Agni VI: – Intercontinental ballistic missile.Range -5,000–12,000 km.

3. Trishul: – Trishul is the name of a short range surface to air missile.  Range -12km

This is fire and forget anti tank guided missile.  It is an all weather, top attack missile.

4. Nag: – Nag is India’s third generation missile.

Range of 3 to 7 km.

Helina: It is a helicopter system of Naga Missile System which can be launched by helicopter.

Dhruvastra: The helina that will be used by the Air Force will be called Dhruvastra.

5. Akash: – Akash is a new generation medium-range surface-to-air missile.  Range of 30-70km.

* A trick through which missiles made under IGMDP can be memorized: – PATNA

P-Prithvi

A-Agini

T-Trishul

N-Nag

A-akash

इंटीग्रेटेड गाइडेड मिसाइल डेवलपमेंट प्रोग्राम (IGMDP) इन हिंदी

इंटीग्रेटेड गाइडेड मिसाइल डेवलपमेंट प्रोग्राम (IGMDP) मिसाइल की व्यापक रेंज के अनुसंधान और विकास के लिए एक भारतीय रक्षा मंत्रालय का कार्यक्रम था।

1982-83 में आईजीएमडीपी डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के नेतृत्व में शुरू किया गया।

कार्यक्रम का प्रबंधन:- रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) और आयुध निर्माणी बोर्ड (OFB) द्वारा किया गया था।

प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत को विशेष रूप से तैयार करना।

1983 से 2012 तक 5 मिसाइलों का निर्माण या गया :-

1.पृथ्वी :- पृथ्वी मिसाइल सामरिक सतह से सतह कम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल (SRBM) का एक परिवार है।

– भारत की पहली स्वदेशी रूप से विकसित बैलिस्टिक मिसाइल।

– रेंज 150-300km

2. अग्नि:- अग्नि मिसाइल मध्यम से अंतरमहाद्वीपीय दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों का एक परिवार है।

-अग्नि मिसाइलें लंबी दूरी की, परमाणु हथियार सक्षम सतह से सतह पर मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल हैं।

प्रकार:-

1. अग्नि- I, अग्नि- II:- मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल।  रेंज 700-3,500 किमी।

2.अग्नि-III,अग्नि-IV:- इंटरमीडिएट-रेंज बैलिस्टिक मिसाइल।  रेंज -3,000–5,000 किमी

3.अग्नि-V, अग्नि VI :- इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल। रेंज -5,000-12,000 किमी।

3. त्रिशूल:- त्रिशूल सतह से हवा में मार करने वाली कम दूरी की मिसाइल का नाम है।  रेंज -12 किमी

4. नाग:- नाग भारत की तीसरी पीढ़ी की मिसाइल है।

यह दागो और भूल जाओ टैंक रोधी निर्देशित मिसाइल है।  यह ऑल वेदर, टॉप अटैक मिसाइल है।

3 से 7 किमी की रेंज।

– हेलीना: यह नाग मिसाइल सिस्टम का भाग है इससे हेलीकॉप्टर से लांच किया जा सकता है

–  ध्रुव अस्त्र:- हेलीना जिसे एयरफोर्स द्वारा प्रयोग में लाया जाएगा

5. आकाश:- आकाश नई पीढ़ी की मध्यम दूरी की सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल है।  30-70 किमी की रेंज।

*एक ट्रिक के माध्यम से IGDMP के तहत बनी मिसाइलों को याद रखा जा सकता है:- PATNA

पी- पृथ्वी

ए- अग्नि

टी- त्रिशूल

एन- नाग

A- आकाशी

*The Defence Research and Development Organisation (DRDO) :- is an agency under the Department of Defence Research and Development in ministry of Defence.

It was formed in 1958.

HQ. New Dehli

Formed by the merger of the 4 organizations :-

Technical Development Establishment(TDE)

Directorate of Technical Development (DoTD)

Production of the Indian ordnance Factories (IOF)

Defence Science Organisation.